Category

ऐतिहासिक पुस्तकें

Category

अकबर नामा –
अकबरनामा मुगल इतिहास को जानने की दृष्टि से महत्वपूर्ण रचना है ।
अकबरनामा का शाब्दिक अर्थ है अकबर की जीवनी यह अकबर के काल का प्रमाणिक इतिहास है इसका विवरण निम्न प्रकार है –

पुस्तक अकबर नामा
लेखक अबुल फजल
भाषा फारसी
  • अकबर नामा की रचना मुगल बादशाह अकबर के दरबारी विद्वान अबुल फजल ने की यह मुगल इतिहास को जानने की दृष्टि से प्रमाणिक रचना है ।

विशेष –
* अबुल फजल की रचना आइने अकबरी में दो हजार से ज्यादा पृष्ठ है । इसमें मुगल इतिहास का प्रमाणिक विवरण है क्यूंकि अबुल फजल मुगल दरबार से सबंधित थे ।अकबरभाग –
अकबर नामा में अकबर के समय का दो भागों में वर्णन है

भाग –
अकबर नामा में अकबर के समय का दो भागों में वर्णन है

  • प्रथम भाग में 1573 ई तक का वर्णन व दूसरे भाग में 1601 ई तक का उल्लेख मिलता है ।

तुजुके जहांगीरी –
तुजूके जहांगीरी मुगलकालीन महत्वपूर्ण रचना है । यह मुगल बादशाह जहांगीर की जीवनी है । इसकी रचना सव्यं जहांगीर ने कि हालांकि कुछ भाग बाद में भी लिखा गया ।

पुस्तक तुजूके जहांगीरी
रचनाकार जहांगीर
भाषा फारसी

*इसकी रचना जहांगीर के बाद मौत मिद खां व मोहम्मद हादी ने की

  • इस पुस्तक में जहांगीर ने अपने शासन के 17 वर्षों का वृतांत लिखा है ।
  • जहांगीर के बाद इसे आगे मौत मिद खां ने लिखा ।

तत्पश्चात उसने अपने ही नाम से शेष जीवन का वृत्तांत अपनी पुस्तक ‘इकबालनामा’ में लिखा। इस प्रकार जहाँगीर की आत्म कथा पूरी हुई। जहाँगीर ने पूरे बाइस वर्ष शासन किया था।
जहाँगीर ने अपने राज्य काल के प्रथम बारह वर्ष का वृत्तांत लिखने के बाद उसकी कई प्रतियाँ तैयार करवाई और सर्वप्रथम एक प्रति उसने शाहजहाँ को दी। दूसरी जिल्द में उसने अपने शासन के सत्रहवें वर्ष तक का वृत्तांत लिखा और फिर शेष वृत्तांत मुदामिद ख़ाँ से लिखवाया, मुदामिद ख़ाँ ने अपने नाम से जहाँगीर की मृत्यु तक का वृत्तांत लिखा

हुमायूं नामा –
हुमायूं नामा मुगल काल की एक महत्वपूर्ण रचना है । यह मुगल बादशाह हुमायूं की जीवनी है । इससे मुगल बादशाह हुमायूं व बाबर के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है ।

पुस्तक हुमायूं नामा
रचनाकार गुलबदन बेगम
भाषा फारसी
  • गुलबदन बेगम ने हुमायूं नामा की रचना अकबर के आग्रह पर की ।
  • इस पुस्तक से मुगल शाही परिवार के आंतरिक परिवार की जानकारी मिलती है क्यूंकि इसकी रचना गुलबदन बेगम ने की जो हुमायूं की बहन थी ।
  • यह पुस्तक दो भागों में विभाजित है जिसके एक भाग में बाबर का इतिहास व दूसरे भाग में हुमायूं का इतिहास वर्णित है ।
  • इस पुस्तक से तत्कालीन सामाजिक , आर्थिक स्थति का भी पता चलता है ।
  • इस तरह यह पुस्तक मुगल काल को जानने के लिए बेहद उपयोगी है ।

शाहजहांनामा –
शाहजहांनामा एक मुगलकालीन साहित्यिक रचना है जिससे मुगल काल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है ।

पुस्तक शाहजहांनामा
रचनाकार इनायत खां
भाषा फारसी
काल मुगल काल
  • इस पुस्तक से मुगल बादशाह ओरंगजेब के आरंभिक 10 वर्षों की जानकारी मिलती है ।
  • इस रचना से मुगल अर्थव्यवस्था की जानकारी मिलती है ।